आज के इस समय में भी कई लोग ऐसे हे जो किसी तांत्रिक या अघोरी के पास जाकर मुठ की क्रिया करवाते हे ये क्रिया महेली शक्ति में आती हे इसे काला जादू भी कहते हे,अगर समय से पहले इसकी काट ना हो पाई तो रोगी की यानि की जिस पर मुठ चलाई हे उस व्यक्ति की जान भी जा सकती हे,इस पोस्ट में हम आपको मुठ रोकने का मंत्र दे रहे हे जिसकी मदद से आप मुठ की काट कर सकते हे,

इस पोस्ट में हम पूर्ण विधि विधान के साथ साधना दे रहे हे जिसकी मदद से आप जनकल्याण के कार्य कर सकते हो.

मुठ रोकने का मंत्र

मंत्र

ॐ नमो आदेश गुरु को चण्डी चड़ी तो ऊपर आवत मूठ करे नवखण्डी  चकर ऊपर चकर धरूं चार चकर ले कहा करूं श्री नृसिंह का मुंह आगे धरूं  मदमांस की करूं अग्यारी माकों चाचि मेरे साथ काकों चाचि तौ मूंठ फिराऊं  तीन सौ साठ मेरी भक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा।

मंत्र को सिद्ध करने की विधि

मंगलवार से साधना का प्रारम्भ करे साधना आपको स्मशान भूमि पर करनी हे,अपने ईस्ट देव की आज्ञा लेकर या गुरु की आज्ञा लेकर साधना शुरू करे,काली हकिक की माला से उपर्युक्त मंत्र की ३ माला करे ये विधि आपको लगातार ११ दिन तक करनी हे,११ दिन तक साधना करने से आपकी साधना सफल हो जाएगी,

प्रयोग

मूठ जिस पर चलाई जाती है, उसका बचना नामुमकिन होता है, इसलिए उसे बीच में ही रोकना अच्छा होता है। जब उपर्युक्त मंत्र के प्रभाव से मूठ रुक जाए तो बकरे की कलेजी और शराब का भोग देकर कहें कि जिसने भी मूठ चलाई है, उसी के पास वापस चली जा, उसी को जाकर मार। अपना भोग लेकर मूठ वापस लौट जाएगी।

मुठ रोकने का मंत्र को सिद्ध करके आप कैसी भी मुठ हो उसका काट कर सकते हो और जिसने भी ये मुठ भेजी हे उसके पास वापिस भी जाने देने की क्षमता हासिल कर सकते हो,इस साधना का उपयोग आप जनकल्याण के लिए कर सकते हो अगर आप गद्दी लगते हो तो आपको इस मंत्र की साधना अवश्य करनी चाहिए.

यह भी पढ़े 

शाबर वशीकरण 

मोहिनी विधा

जोपडी साधना

काली जोपडी मोहिनी साधना

भैरव साधना

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here